Wednesday, 13 November 2019, 6:01 PM

ज्योतिष एवं वास्तु

पत्नी को कतई ना दें ये 5 उपहार, जानिए कैसे खुश होगा आपका प्यार

Updated on 16 October, 2019, 6:45
करवा चौथ के सजीले पर्व पर पतियों का तनाव है कि अपनी पत्नी को क्या ऐसा दें कि पुराने सारे गिले शिकवे दूर जाए और उनका प्यार खिल जाए। इस तनाव में अब तक वे पूरा गूगल खंगाल चुके हैं कि क्या दें उपहार, लेकिन कोई उन्हें यह नहीं बता... आगे पढ़े

धनतेरस को करेंगे ये 7 कार्य तो हो जाएंगे मालामाल

Updated on 15 October, 2019, 6:30
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। यह पांच दिन चलने वाले दीपावली उत्सव का पहला दिन होता है। धनतेरस से ही तीन दिन तक चलने वाला गोत्रिरात्र व्रत भी शुरू होता है। आओ जानते हैं इस किए जाने वाले 3 महत्वपूर्ण... आगे पढ़े

बुंदेलखंड का केदारनाथ है छतरपुर जिले का जटाशंकर धाम

Updated on 15 October, 2019, 6:15
बुंदेलखंड क्षेत्र के छतरपुर जिले में बिजावर तहसील से करीब 15 किमी दूर चारों ओर सुंदर पहाड़ों से घिरा एक शिव मंदिर है, जिसे जटाशंकर धाम के नाम से जाना जाता है। इस अति प्राचीन मंदिर में विराजित भगवान शिव का हमेशा गौमुख से गिरती हुई धारा से जलाभिषेक होता... आगे पढ़े

बदरीनाथ मंदिर के कपाट 17 नवंबर को होंगे बंद

Updated on 12 October, 2019, 10:45
देहरादून । उत्तराखंड के हिमालयी क्षेत्र में स्थित विश्व प्रसिद्ध बदरीनाथ धाम के कपाट आगामी 17 नवंबर को शीतकाल के लिए श्रद्धालुओं के दर्शन हेतु बंद कर दिए जाएंगे। विजयादशमी के पावन अवसर पर बदरीनाथ धाम में आयोजित विशेष समारोह के दौरान मंदिर के कपाट बंद किए जाने की तिथि... आगे पढ़े

महाबलीपुरम का धार्मिक इतिहास और अद्भुत मंदिर

Updated on 12 October, 2019, 6:30
तमिलनाडु में कई प्राचीन शहर है जिसमें से एक है महाबलीपुरम जो समुद्र तट पर स्थित है। इस शहर का इतिहास बहुत ही प्राचीन और भव्य है। यहां प्रस्तुत है संक्षिप्त जानकारी। महाबलीपुरम का नामकरण : इस शहर का नाम महान दानवीर असुर राजा महाबली के नाम पर रखा गया था।... आगे पढ़े

बनासकांठा का नाडेश्वरी माता का मंदिर है आस्था का केन्द्र 

Updated on 10 October, 2019, 6:45
गुजरात के बनासकांठा के बॉर्डर पर नाडेश्वरी माता का मंदिर बना है। यह मंदिर आम लोगों के साथ-साथ सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों के लिए भी आस्था और श्रद्धा का बहुत बड़ा धर्मस्थल बना हुआ है। बनासकांठा बॉर्डर पर जब भी किसी जवान की ड्यूटी लगती है तो वह ड्यूटी... आगे पढ़े

भगवान की मूर्तियां उपहार में देना ठीक नहीं  

Updated on 10 October, 2019, 6:30
वास्तु शास्त्र कहता है कि भगवान की मूर्तियां किसी को तोहफे में नहीं देनी चाहिए और अगर इन्हें खरीदा जा रहा है तो सिर्फ अपने उपयोग के लिए ही खरीदें। वास्तु विज्ञान के अनुसार भगवान की मूर्तियां या तस्वीर यदि घर में हों तो उन्हें स्थापित करने से लेकर उनकी... आगे पढ़े

पक्षियों को दाना खिलाने से बनी रहती है देवी लक्ष्मी की कृपा  

Updated on 10 October, 2019, 6:15
हम अपने घरों में सुख समृद्धि लाने के लिए बहुत से उपाय करते रहते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार पक्षियों को दाना खिलाना शुभ होता है, लेकिन इसमें मामूली सी गलती इसके विपरीत नुकसान पहुंचा सकती है। कई बार अंजाने में ही हम सही हम कुछ न कुछ गलती भी... आगे पढ़े

रावण ने जानबूझकर राम के हाथों मृत्यु के लिये सीता का अपहरण किया था 

Updated on 8 October, 2019, 6:30
दशहरा के समय जब राम की विजय का घोष होता है तो रावण की पराजय और मृत्यु की चर्चा भी होती है। वास्तव में दशहरा के मौके पर राम तथा रावण दोनों का स्मरण होता है।   रामानुज लक्ष्मण द्वारा शूर्पणखा का अंग भंग किये जाने का कारण सब को मालूम... आगे पढ़े

अलौकिक है सकराय का सिद्ध शक्ति पीठ

Updated on 5 October, 2019, 6:30
राजस्थान शक्ति व भक्ति की साधना स्थली रहा हैं। यही कारण है कि मातृ शक्ति के पुजारी यहां के शैलखण्डो पर असुरनासिनी मां दुर्गा व भगवती के मन्दिर शंख नगाड़ो से गुंजायमान करते हैं। राजस्थान में देवियों के नामों का आधार प्राय: अवतार हैं, लेकिन ख्याति प्राप्त सिद्ध शक्ति पीठ... आगे पढ़े

हे ! माँ दुर्गा

Updated on 4 October, 2019, 6:15
सत्य का आधार माँ तू , ज्ञान का है सार माँ तू। तू तो सबको तारिती है, है सकल संसार माँ तू। हर बुराई पर तू भारी, कर्म का अभिसार माँ तू। हम भले बेटे हों मूरख, पर सदा है प्यार माँ तू। हैवानियत जब भी है बढ़ती, दानवों पर मार माँ तू। राह में फूलों की रचना, नित हटाती खार... आगे पढ़े

विजेता बनना है तो धारण करें वैजयंती माला 

Updated on 3 October, 2019, 7:00
धर्म में सफल होने के लिए पूजा पाठ और हवन के साथ ही कई अन्य उपाय भी है। धर्म शास्त्रों के अनुसार  वैजयंती माला- एक ऐसी माला जो सभी कार्यों में विजय दिला सकती है। इसका प्रयोग भगवान श्री कृष्ण माता दुर्गा, काली और दूसरे कई देवता करते थे। रत्न के... आगे पढ़े

नवरात्रि में इसलिए खाते हैं ये फलाहार  

Updated on 3 October, 2019, 6:45
नवरात्रि में देवी की उपासना के साथ ही नौ दिनों के उपवास होते हैं इन दिनों फलाहार ही होता है। इन दिनों घर में सादे नमक की जगह सेंधा नमक और गेहूं के आटे की जगह  बल्कि सिर्फ कूटू का आटा या सिंघाड़े का आटा खाया जाता है। इसके पीछे... आगे पढ़े

शिवतांडव स्तोत्र से मिलती है सिद्धि  

Updated on 3 October, 2019, 6:15
शिवतांडव स्तोत्र का प्रतिदिन पाठ करने से व्‍यक्ति को जिस किसी भी सिद्धि की महत्वकांक्षा होती है, भगवान शिव की कृपा से वह आसानी से पूर्ण हो जाती है। इस बारे में एक कथा से जाना जा सकता है। कुबेर व रावण दोनों ऋषि विश्रवा की संतान थे और दोनों... आगे पढ़े

भगवत गीता में छिपे हैं सभी सवालों के जवाब  

Updated on 3 October, 2019, 6:00
महाभारत में भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन से जो बातें कहीं थीं उनका महत्‍व आज भी है। भगवत गीता के उपदेश आज भी मनुष्‍य जाति के लिए उतने ही प्रासंगि‍क हैं जितने कुरुक्षेत्र के मैदान में अर्जुन के लिए थे। ऐसा माना जाता है कि इस दुनिया के सभी सवालों के जवाब... आगे पढ़े

कृष्ण हैं परम पुरुष  

Updated on 1 October, 2019, 6:00
जीव तथा भगवान की स्वाभाविक स्थिति के विषय में अनेक दार्शनिक ऊहापोह में रहते हैं। जो भगवान कृष्ण को परम पुरुष के रूप में जानता है, वह सारी वस्तुओं का ज्ञाता है। अपूर्ण ज्ञाता परम सत्य के विषय में केवल चिन्तन करता जाता है, जबकि पूर्ण ज्ञाता समय का अपव्यय... आगे पढ़े

आसुरी शक्ति पर दैवीय शक्ति की विजय का पर्व

Updated on 30 September, 2019, 6:30
देवी दुर्गा की दया,से रोशन संसार । जिनसे मिलता है हमें,रक्षा का उपहार ।।" दुर्गा पूजा का पर्व हिन्दू देवी दुर्गा की बुराई के प्रतीक राक्षस महिषासुर पर अच्छाई की विजय के रूप में मनाया जाता है। दुर्गा पूजा भारतीय राज्यों असम, बिहार, झारखण्ड, मणिपुर, ओडिशा, त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल में व्यापक... आगे पढ़े

गुरव शिव पुजारी ! 

Updated on 30 September, 2019, 6:15
शिव की सेवा पूजा कर अपना जीवन यापन करने वाला गुरव पुजारी कहलाया है, शैवधर्म का पालन करने वाला गुरव कहलाया है । नित सर्व प्रथम शिव का स्मरण करना ओर शिव को ही भजना, जपना ओर शिव को ही अपना सर्व जीवन समर्पित करना यह गुरव कर्म है। यही... आगे पढ़े

इस नवरात्रि बन रहा है दुर्लभ संयोग, पूजा का मिलेगा कई गुना फल

Updated on 28 September, 2019, 15:06
 नई दिल्ली ,Shardiya Navratri 2019- श्राद्ध या पितृ पक्ष के खत्म होते ही 29 सितंबर, रविवार से शारदीय नवरात्र आरंभ हो रहे हैं। हिंदू धर्म में नवरात्र का बहुत बड़ा महत्व  बताया गया है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन माता कैलाश पर्वत से धरती पर अपने मायके आती हैं।... आगे पढ़े

पितरों का आशीर्वाद बेशक़ीमती होता है

Updated on 28 September, 2019, 6:00
"पितर हमारे पूज्य नित,नित्य रहें वे याद । उनके ही आशीष से,हैं हम सब आबाद ।।" "पूर्वज पूजा" की प्रथा विश्व के अन्य देशों की भाँति बहुत प्राचीन है। यह प्रथा यहाँ वैदिक काल से प्रचलित रही है। विभिन्न देवी देवताओं को संबोधित वैदिक ऋचाओं में से अनेक पितरों तथा मृत्यु की... आगे पढ़े

इन कारणों से माता लक्ष्मी की कृपा नहीं होती  

Updated on 26 September, 2019, 6:30
व्यक्ति अपने परिवार की खुशी के लिए कड़ी मेहनत करता है ताकि उसके घर में हमेशा सुख और समृद्धि बनी रहे। लेकिन जाने-अनजाने कई बार कुछ छोटी-छोटी गलतियों की वजह से उनके ऊपर माता लक्ष्मी की कृपा नहीं हो पाती। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में कई बार कुछ ऐसी... आगे पढ़े

रंगों का चुनाव सोच-समझकर करें  

Updated on 26 September, 2019, 6:15
वास्तु के अनुसार अपने घर की फ्लोरिंग के लिए रंगों का चुनाव सोच-समझकर करें क्योंकि रंग भी घर में भी रहने वाली सकारात्मक या नकारात्मक ऊर्जा को प्रबावित करते हैं। घर में यदि सही रंगों का प्रयोग किया गया है तो घर में अच्छी ऊर्जा बनी रहती है।  पूर्व दिशा  पूर्व दिशा... आगे पढ़े

सर्वपितृ अमावस्या इसलिए मानी जाती है महत्वपूर्ण 

Updated on 26 September, 2019, 6:00
आश्विन मास वर्ष के सभी 12 मासों में खास माना जाता है। इस मास की अमावस्या तिथि तो और भी महत्वपूर्ण मानी जाती है। इसकी सबसे बड़ी वजह है पितृ पक्ष में इस अमावस्या का होना। इस साल पितृपक्ष अमावस्या 28 सितंबर को शनिवार के दिन है। सर्वपितृ अमावस्या के... आगे पढ़े

फेंगशुई से बदलें भाग्य  

Updated on 25 September, 2019, 6:15
अगर आप बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे हैं, जिसकी वजह से अक्सर आपके घर में कलह का माहौल बना रहता है तो परेशान होने की जगह फेंगशुई के इन 3 पुराने सिक्कों से मदद लीजिए। आइए जानते हैं कैसे आप इन सिक्कों की मदद से अपने आस-पास की नकारात्मक... आगे पढ़े

श्राद्ध :  ऋण चुकाने का मौका 

Updated on 24 September, 2019, 6:00
पितृ ऋण यानि हमारे उन पालकों का ऋण जिन्होंने हमारे इस शरीर को जन्म दिया पाला-पोसा, बड़ा किया, योग्य बनाया एवं हमें इस लायक बनाया कि हम इस योग्य बन सके हैं जितने आज हैं। यह उनका हम पर ऋण है। इसलिए पितृ ऋण को प्रमुखता देते हुए हमारी संस्कृति... आगे पढ़े

हर संकट से मुक्ति दिलाएंगे धूप के 14 अचूक उपाय

Updated on 23 September, 2019, 6:45
हिन्दू घरों में धूप और दीप देने की परंपरा प्राचीनकाल से ही चली आ रही है। धूप देने से मन में शांति और प्रसन्नता का विकास होता है। रोग और शोक मिट जाते हैं। गृहकलह और आकस्मिक घटना-दुर्घटना नहीं होती। घर के भीतर व्याप्त सभी तरह की नकारात्मक ऊर्जा बाहर... आगे पढ़े

आप नहीं जानते होंगे श्राद्ध के रहस्य की ये 6 बातें

Updated on 23 September, 2019, 6:30
ब्रह्म वैवर्त पुराण के अनुसार देवताओं को प्रसन्न करने से पहले मनुष्य को अपने पितरों यानी पूर्वजों को प्रसन्न करना चाहिए। हिन्दू धर्म में मृत्यु के बाद श्राद्ध करना बेहद जरूरी माना जाता है। मान्यतानुसार अगर किसी मनुष्य का विधिपूर्वक श्राद्ध और तर्पण ना किया जाए तो उसे इस लोक से... आगे पढ़े

दुनिया से जाने के बाद आपके पितरों की कैसी रही होगी गति?

Updated on 23 September, 2019, 6:15
गति बहुत महत्वपूर्ण है। गति होती है ध्वनि कंपन और कर्म से। यह दोनों ही स्थिति चित्त का हिस्सा बन जाती है। कर्म, विचार और भावनाएं भी एक गति ही है, जिससे चित्त की वृत्तियां निर्मित होती है। योग के अनुसार चित्त की वृत्तियों से मुक्ति होकर स्थिर हो जाना... आगे पढ़े

श्राद्ध से बड़ा कल्याणप्रद और कोई मार्ग नहीं 

Updated on 22 September, 2019, 6:15
संसार में श्राद्ध से बढ़कर कोई दूसरा कल्याणप्रद मार्ग नहीं है। अत: बुद्धिमान मनुष्य को प्रयत्नपूर्वक श्राद्ध करना चाहिए। श्राद्ध की आवश्यकता और लाभ पर अनेक ऋषि-महर्षियों के वचन ग्रंथों में मिलते हैं। यह कहना है कि महर्षि सुमन्तु का। उन्होंने श्राद्ध के लाभ बताए हैं। कुर्मपुराण में कहा गया... आगे पढ़े

श्राद्ध में कौए को क्यों माना जाता है पितर? जानिए 10 रहस्य

Updated on 21 September, 2019, 6:30
भादौ महीने के 16 दिन कौआ हर घर की छत का मेहमान बनता है। ये 16 दिन श्राद्ध पक्ष के दिन माने जाते हैं। कौए एवं पीपल को पितृ प्रतीक माना जाता है। इन दिनों कौए को खाना खिलाकर एवं पीपल को पानी पिलाकर पितरों को तृप्त किया जाता है। श्राद्ध... आगे पढ़े