Sunday, 18 November 2018, 7:21 PM

ज्योतिष एवं वास्तु

घर के मालिक को कहां और किसके साथ सोना चाहिए

Updated on 29 October, 2018, 6:40
प्राचीन समय से भारत में वास्तु का प्रचलन चला आ रहा है। इसमें दी गई जानकारी हर व्यक्ति के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण मानी जाती है। वास्तु में कहा बताया गया है कि हमारे घर-आॅफिस में रखी हर चीज़ का हमारे ऊपर अच्छा-बुरा असर पड़ता है। इसके साथ ही वास्तु... आगे पढ़े

आंखों की रोशनी कम होने का कारण आपका घर भी हो सकता है

Updated on 28 October, 2018, 6:20
आजकल ज्यादातर देखने को मिलता है कि बच्चों को बहुत कम उम्र में ही चश्मा लग जाता है। इसका कारण लोग बच्चों की लापरवाही आदि को देते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं इसके पीछे वास्तु दोष भी हो सकता है। ज्योतिष दुनिया के जाने माने आचार्य कमल नंदलाल के... आगे पढ़े

Karva Chauth Essentials: ये हैं करवा चौथ व्रत के लिए जरूरी चीजें, इनके बिना अधूरी है पूजा

Updated on 27 October, 2018, 7:10
करवा चौथ का व्रत सौभाग्य और पति-पत्नी के बीच प्रेम का त्योहार है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत करती हैं। बदलते वक्त के साथ पति भी अपनी पत्नी का साथ निभाने के लिए व्रत करने लगे हैं। अगर आप दोनों पति-पत्नी ने भी साथ में... आगे पढ़े

Karva Chauth Puja Alone: अकेली हैं इस बार तो ऐसे करें करवा चौथ की पूजा

Updated on 27 October, 2018, 6:45
करवा चौथ के त्‍योहार का हर महिला को साल भर बेसब्री से इंतजार रहता है। इस दिन के लिए महिलाएं काफी समय पहले से ही तैयारी शुरू कर देती हैं। करवा चौथ पर सज संवरकर महिलाएं समूह में एकत्र होती हैं और फिर पूजा करती हैं। मगर कुछ कामकाजी महिलाएं या... आगे पढ़े

लव लाइफ को बनाइए रोमांटिक और मजेदार इन फेंगशुई के उपायों से

Updated on 27 October, 2018, 6:15
लव लाइफ को रोमांटिक और मजेदार बनाने के लिए फेंगशुई में कुछ उपाय बताए गए हैं। इन उपायों से आप अपनी लव लाइफ को खुशियों से भर सकते हैं। फेंगशुई एक प्रकार का चीनी वास्तु शास्त्र है। जो नकारात्मक ऊर्जा को बाहर करता है और सकरात्मक ऊर्जा को अंदर लाता... आगे पढ़े

OH! तो लाइफ में Friendship इसलिए है जरूरी

Updated on 26 October, 2018, 6:45
एक बार की बात है। एक राजा ने राजकुमार को एक ऋषि के आश्रम में शिक्षा के लिए भेजा। ऋषि ने आश्रम में राजकुमार के लिए प्रबंध किया और उसकी शिक्षा प्रारम्भ हो गई। एक दिन ऋषि ने राजकुमार से पूछा कि तुम क्या बनना चाहते हो। इस पर ही... आगे पढ़े

कार्तिक मास में भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो...

Updated on 26 October, 2018, 6:30
हिंदू धर्म के ग्रथों में कार्तिक मास को बहुत खास महीना बताया जाता है। इस वर्ष का कार्तिक मास 24 अक्टूबर से शुरू होकर 21 नवंबर तक चलेगा क्योंकि इस माह को लेकर कई मान्यताएं प्रचलित है। इसलिए इस महीने में कई एेसे काम हैं जिन्हें करना हिंदू धर्म के... आगे पढ़े

अपनी पत्नी के लिए करें ये व्रत, नहीं अकेले सोना पड़ेगा

Updated on 26 October, 2018, 6:20
अशून्य शयन व्रत 26 अक्टूबर को आ रहा है, इसे पतियों का करवाचौथ कहा जा सकता है। अपनी पत्नी से प्यार करने वाला हर पति इस व्रत को करता है। अशून्य शयन द्वितिया का अर्थ है- बिस्तर में अकेले न सोना पड़े यानि हर समय अपनी वाईफ का साथ बना... आगे पढ़े

घर में यहां रखा DUSTBIN देता है मुसीबतों को दावत

Updated on 25 October, 2018, 6:30
रोज़ाना हम आपको वास्तु से जुड़ी बहुत से बातें बताते हैं, जिनका मानव जीवन पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है। आज हम आपके घर में उपयोग होने वाली बड़ी ही सामान्य चीज़ के बारे में बताने जा रहे हैं। हम बात कर रहे हैं घर में उपयोग होने वाले डस्टबिन... आगे पढ़े

कार्तिक मास में तुलसी क्यों है खास

Updated on 23 October, 2018, 7:30
हिंदू पंचांग के अनुसार हर महीने की अलग-अलग महिमा है। शास्त्रों में चातुर्मास में आने वाले कार्तिक मास को धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष देने वाला माना गया है। तुला राशि पर सूर्यनारायण के आते ही कार्तिक मास प्रारंभ हो जाता है। इस मास में तुलसी पूजा का बहुत महत्व... आगे पढ़े

मेहनत करने के बाद भी हो रहे हैं असफल, तो ये अपनाएं ये वास्तु टिप्स

Updated on 23 October, 2018, 7:10
बहुत से लोग होते हैं जो अधिक मेहनत के बावजूद भी अधिक लाभ प्राप्त नहीं कर पाते, जिस कारण उनके घर में सदैव दरिद्रता व गरीबी बनी रहती है। तो अगर आप भी उन लोगों में से एक हैं तो आज हम आपको वास्तु के कुछ उपाए बताने जा रहे... आगे पढ़े

कौन था गांधारी के कुल का हत्यारा

Updated on 23 October, 2018, 6:45
धृतराष्ट्र महाराज विचित्रवीर्य की पहली पत्नी अंबिका के पुत्र और महाभारत के प्रमुख पात्रों में से एक थे। कहा जाता है कि इनका जन्म महर्षि वेद व्यास के वरदान स्वरूप हुआ था। हस्तिनापुर के इस नेत्रहीन महाराज के सौ पुत्र और एक पुत्री थी। उनकी पत्नी का नाम गांधारी था।... आगे पढ़े

देवी-देवताओं को भी नहीं पता यह ज्ञान, नचिकेता ने ऐसे जाना

Updated on 22 October, 2018, 7:00
कठोपनिषद में नचिकेता की कहानी आती है, जो एक पांच साल का बालक था। उसके पिता ने एक यज्ञ किया, जिसमें उन्होंने कहा- मैं अपना सब कुछ दान कर दूंगा । लेकिन बाद में वो बीमार गायें दान करने लगे। नचिकेता को यह अच्छा नहीं लगा कि बीमार व बूढी गाय... आगे पढ़े

क्यों कृष्ण को प्रिय है कार्तिक मास

Updated on 22 October, 2018, 6:40
विभिन्न शास्त्रों और पुराणों आदि में हर दिवस व मास को मनाए जाने वाले पर्व, उत्सव, व्रत आयोजनों आदि का उल्लेख उनके फलादि के साथ किया गया है। हिंदू धर्म के अनुसार साल के सभी बारह महीनों को किसी-न-किसी देवता के साथ संयुक्त कर उसके महत्व का उल्लेख उनमें किया... आगे पढ़े

Door Knob लगवाते समय इन बातों का रखें ध्यान

Updated on 22 October, 2018, 6:20
आजकल हर कोई अपने घर को मार्डन बनाने में लगा रहता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए लोग अपने घर को अलग-अलग ढंग से डिज़ाइन करवाते हैं। वास्तु के अनुसार घर को मॉडर्न लुक देने के लिए दीवारों, परदों और इंटीरियर की अन्य चीजों के साथ ही घर... आगे पढ़े

कार्तिक मास में ही क्यों जलाते हैं दीया

Updated on 21 October, 2018, 6:40
पदमपुराण में कहा गया है कार्तिक माह में शुद्ध घी अथवा तिलों के तेल से दीपक जलाना चाहिए। ऐसा करने से अश्वमेघ यज्ञ के समान फल प्राप्त होता है। मंदिरों में और नदी के किनारे दीपदान करने से लक्ष्मी कृपा प्राप्त होती है। इस माह में दीपदान करने से विष्णु... आगे पढ़े

आपके झगड़ों का कारण कहीं आपका घर तो नहीं !

Updated on 20 October, 2018, 6:40
वास्तुशास्त्र एक एेसा शास्त्र माना जाता है, जिसमें मानव जीवन की बहुत सी समस्याओं का समाधान है। घर हो या आॅफिस इसमें हर वो चीज़ के बारे में बताया है, जो मानव जीवन से संबंध रखती है और उस पर अच्छा-बुरा प्रभाव डालती है। इतना ही नहीं वास्तु के जरिए... आगे पढ़े

विजयदशमी पर शस्त्र पूजा का महत्व 

Updated on 19 October, 2018, 8:00
हमारे देश में विजयादशमी के शुभ अवसर पर देवी पूजा के साथ-साथ शस्त्र पूजा की परंपरा भी कायम हैं। यह शस्त्र पूजा दशहरा के दिन ही क्यों की जाती है, इस संबंध में अनेक कथाएँ प्रचलित हैं। एक कथा के अनुसार राम ने रावण पर विजय प्राप्त करने हेतु नवरात्र... आगे पढ़े

इस तरह अपनी जीत के साथ मनाएं दशहरा

Updated on 19 October, 2018, 7:40
देवी जया और विजया का पर्व विजयादशमी यानी दशहरा, दरअसल नवरात्रि के नौ पावन दिनों के पश्चात खुद पर विजय पाकर स्वयं के पुनर्परिचय का महाकाल है। नवरात्रि का पर्व किसी पंडाल में स्थापित देवी की कृपा प्राप्त करने का नहीं, बल्कि अपने ही भीतर के सप्तचक्रों पर विराजित अपनी... आगे पढ़े

इसलिए मनाया जाता है दशहरा का त्योहार, यह है विजयदशमी की कथा

Updated on 19 October, 2018, 7:00
हमारे देश में दशहरा का त्योहार बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। इस पर्व को विजय दशमी भी कहा जाता है। शारदीय नवरात्रि के समय नौ दिन मां दुर्गा का पूजन करने के बाद दसवें दिन रावण का पुतला बनाकर उसका दहन किया जाता है। इसका कारण और कथा त्रेतायुग... आगे पढ़े

द्रोपदी के स्वयंवर में अर्जुन की जीत के पीछे था कृष्ण का हाथ, पढ़ें रोचक कहानी

Updated on 18 October, 2018, 12:45
द्रौपदी के स्वयंवर में जाते वक्त 'श्री कृष्ण' ने अर्जुन को समझाते हुए कहते हैं कि हे पार्थ तराजू पर पैर संभलकर रखना। संतुलन बराबर रखना, लक्ष्य मछली की आंख पर ही केंद्रित हो, इसका खास ख्याल रखना। अर्जुन ने कहा कि हे प्रभु सब कुछ अगर मुझे ही करना... आगे पढ़े

Durga puja havan: नवमी पूजन और हवन मंत्रः घर पर ऐसे करें नवरात्र में नवमी पूजन और हवन

Updated on 18 October, 2018, 7:00
नवरात्र की नवमी तिथि यानी आश्विन शुक्ल नवमी तिथि के दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। माता सिद्धिदात्री सभी सिद्धियों को प्रदान करने वाली माता हैं इनमें माता के सभी रूप सामहित होते हैं जो नवरात्र के नौ दिनों की पूजा का फल अपने भक्तों को प्रदान करती... आगे पढ़े

नवरात्र का कलश उठाते समय रखें इन बातों का ध्यान

Updated on 18 October, 2018, 6:40
नवरात्र देवी दुर्गा का महापर्व माना जाता है। नवरात्र के नौ दिन इनके अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है। इसके साथ ही सबसे पहले दिन लोग घरों में कलश स्थापना करते हैं जिसका अष्टमी व नवमी को विसर्जन किया जाता है। मान्यता है कि इस कार्य को पूरे विधि-विधान... आगे पढ़े

नवरात्रि स्पेशल: राम और रावण की कौन सी बातें हैं एक जैसी

Updated on 17 October, 2018, 7:00
नवरात्रों में देवी दुर्गा के नौ विभिन्न रूपों की पूजा-अर्चना की जाती है। हिंदू धर्म के अनुसार नवरात्र एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है 'नौ रातें'। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, आदिशक्ति के नौ रूपों की पूजा की जाती है। इस पर्व से जुड़ी कथा... आगे पढ़े

नवरात्र का अखंड ज्योत दिखाता है ये कमाल

Updated on 17 October, 2018, 6:40
नवरात्रों में अनेकों तरह के विधि-विधान से देवी दुर्गा की पूजा की जाती है। इन सबमें कलश स्थापना और अखंड ज्योति का सबसे ज्योदा प्रचलन है। नवरात्र के पहले दिन विधि-विधान से लोग अपने घर में कलश स्थापना करते हैं और माता रानी की प्रतिमा के सामने अखंड ज्योति जलाते... आगे पढ़े

नवरात्र: घर में लाएं ये सामान, पूरा साल रहेगी बरकत

Updated on 16 October, 2018, 6:40
शक्ति की उपासना का पर्व यानि नवरात्र पूरे भारत वर्ष में बड़ी ही श्रद्धा एवं उत्साह से मनाया जा रहा है। इन दिनों मुख्य रूप से मां भगवती दुर्गा की आराधना की जाती है। नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ-स्वरूपों, जिन्हें हम नवदुर्गा कहते हैं, जिनके नाम हैं शैलपुत्री,... आगे पढ़े

क्यों देवी दुर्गा को कहा जा जाता है महिषासुर मर्दिनी

Updated on 15 October, 2018, 7:40
नवरात्र शुरू होते ही कहीं जयकारों की गूंज तो, कहीं दुर्गा स्तुति का पाठ तो कहीं मां के भजन सुनने को मिलते हैं। इस पर्व को भारत के कोने-कोने में बहुत धूम-धाम से मनाया जाता है। यह पावन त्योहार आदिशक्ति मां दुर्गा को समर्पित है। नवरात्र के पूरे नौ दिन... आगे पढ़े

गरबा, गुजरात और नवरात्र क्या है इन तीनों का Connection

Updated on 15 October, 2018, 7:20
शारदीय नवरात्र हो या चैत्र नवरात्र, मां अंबिका के भक्त उनकी पूजा में एकजुट हो जाते हैं। देश में चारों और नवरात्र के नौ दिन हर्षोल्लास से इस पर्व को मनाया जाता है। जैसे कोलकाता में इस महापर्व को दुर्गा पूजन के नाम से जाना जाता है तो गुजरात में... आगे पढ़े

वैष्णो देवी श्रद्धालुओं के लिए अब निशुल्क पांच लाख का दुर्घटना बीमा

Updated on 14 October, 2018, 11:15
जम्मू। श्री माता वैष्णो देवी की यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क समूह दुर्घटना बीमा की राशि तीन लाख से बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दी गई है। इसका फैसला शनिवार को श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की 63 वीं बैठक में लिया गया, जिसकी अध्यक्षता जम्मू-कश्मीर... आगे पढ़े

नवरात्र में छत के इस कोने में लगाएं पताका, दूर रहेंगी बुरी शक्तियां

Updated on 14 October, 2018, 7:00
हम में से बहुत से लोग होंगे जिन्होंने देखा होगा कि मंदिरों के ऊपर लाल, केसरिया, भगवा या नारंगी रंग का झंडा लगा होता है। जिसे ध्वजा, पताका आदि भी कहा जाता है। सनातन संस्कृति की बात करे तो मंदिर के ऊपर लगे इस ध्वज को बहुत पावन माना जाता... आगे पढ़े