डॉ. नवीन जोशी

भोपाल।राज्य सरकार ने अपने विमानन बेड़े के डबल इंजन हेलीकाप्टर को दो करोड़ रुपयों में नीलाम किया और बोली लगाने वाले ने 25 प्रतिशत राशि 50 लाख रुपये एवं 2 लाख रुपये धरोहर राशि के रुप में जमा भी किये परन्तु उसने समय पर डिलीवरी नहीं ली जिस पर उसकी सारी 52 लाख रुपये की राशि राज्य सरकार ने जब्त कर ली है। अब नये सिरे से इस हेलीकाप्टर की नीलामी की तैयारी की जा रही है।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार के विमानन बेड़े में एक किंग एयर विमान, एक सिंगल इंजन हेलीकाप्टर तथा एक डबल इंजन हेलीकाप्टर था। निर्माण की तिथि से बीस साल के बाद इन्हें विमानन बेड़े से हटाना पड़ता है। किंग एयर विमान अहमदाबाद की एक कंपनी को नीलामी के जरिये 8 करोड़ 90 लाख रुपये में दे दिया गया जिसकी उसने डिलीवरी भी ले ली। इसी कंपनी ने वर्ष 1997 में बने टेक्स्ट्रन कनाडा लिमिटेड के डबल इंजन बेल हेलीकाप्टर को भी 2 करोड़ रुपयों में नीलामी के माध्यम से क्रय किया और 25 प्रतिशत राशि 50 लाख रुपये एवं धरोहर राशि 2 लाख रुपये जमा कराई। परन्तु उसने पूरी राशि जमा नहीं कर इससे समय पर नहीं उठाया। इस पर राज्य सरकार ने नोटिस देने के बाद 52 लाख रुपये की जमा राशि जब्त कर ली है और नये सिरे से नीलामी की तैयारी प्रारंभ कर दी है।
इधर राज्य सरकार ने वर्ष 2020 में अमेरिका से नया एयरोप्लेन करीब 65 करोड़ रुपयों में क्रय कर लिया है जो अभी संचालित है। इसके अलावा, विमानन बेड़े में सिंगल इंजन एयरबस हेलीकाप्टर जोकि वर्ष 2011 में मेनुफैक्चर हुआ है, भी शामिल है और संचालित हो रहा है। इस हेलीकाप्टर के लिये तीन रेगुलर सर्विस वाले पायलट कार्यरत हैं जबकि नये एयरोप्लेन के लिये दो रेगुलर एवं एक संविदा पायलट कार्यरत हैं। पिछले साल विमानन बेड़े में शामिल विमानों के रखरखाव पर राज्य सरकार ने 3 करोड़ 16 लाख 95 हजार 897 रुपये व्यय किये थे जबकि सीएम, मंत्री एवं अफसरों ने इन विमानों से यात्रा पर कुल 4 करोड़ 44 लाख 40 हजार 286 रुपये व्यय किये।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here