नई दिल्ली।

पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन सेना के बीच चल रहा विवाद अब नया मोड़ ले चुका है। भारतीय सेना की कार्रवाई के बाद भारत सरकार ने भी चीन के ख़िलाफ़ तीसरी  डिजिटल स्ट्राइक (118 चीनी एप्स पर बैन) से चीन बौखला गया है। उसने भारत सरकार के फैसले पर अपनी कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है।

ड्रैगन का कहना है कि भारत का यह कदम विश्व व्यापार संगठन (WTO) के नियमों का उल्लंघन करता है। नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास ने बैन के फैसले पर गंभीर चिंता जाहिर की है। दूतावास की ओर से कहा गया है कि ‘WTO के नियमों का उल्लंघन करने वाले भेदभावपूर्ण फैसलों में सुधार करें। साथ ही चीन समेत दुनिया के अन्य देशों के मार्केट प्लेयर्स के लिए बिजनेस का निष्पक्ष वातावरण मुहैया कराएं।

china

सूत्रों किए मुताबिक नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने कहा, “बीजिंग ने हमेशा चीनी कंपनियों से दूसरे देशों में अंतरराष्ट्रीय नियमों का पालन करते हुए बिजनेस करने को कहा है। साथ ही उनसे अन्य नियमों और रेगुलेशंस का भी ध्यान रखने की बात कही गई है।

चीनी एप्स पर एक और सर्जिकल स्ट्राइक

गौरतलब है कि भारत-चीन के बीच सीमा पर लंबे समय से चल रहे तनाव के बीच केंद्र सरकार ने बुधवार को अहम फैसला लिया था है। सरकार ने चीन पर तीसरी ‘डिजिटल स्ट्राइक’ करते हुए दुनियाभर में लोकप्रिय गेमिंग ऐप PUBG समेत 118 मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया है। 

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here