अयोध्या। अयोध्या में रामलला के मंदिर की नींव की खुदाई आज मंगलवार भोर से शुरू हो गई। इससे पहले बता दें कि 5 अगस्त को यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूमि पूजन किया था। खुदाई का काम शुरू होने के मौके पर भवन निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा जन्मभूमि परिसर में ही मौजूद हैं। 

Ram temple

उल्लेखनीय है कि हाल ही में हुई बैठक में मंदिर का नक्शा तय हुआ है। इस 2 सितंबर को हुई अयोध्या विकास प्राधिकरण की बैठक में सर्वसम्मति से पास किया गया है।

अत्याधुनिक मशीनों से होगी खुदाई

श्रीराम जन्मभूमि परिसर में गहराई तक खुदाई करने वाली भारी भरकम विशिष्ट और अत्याधुनिक कैसाग्ग्रैंड और अन्य मशीनें लाई  गई हैं। सोमवार को कंपनी के विशेष इंजीनियरों की टीम ने इन मशीनों की जांच की। बताया जा रहा है कि पहले मंदिर के खंभों के लिए 100 मीटर गहराई तक खुदाई होगी। फिर इसे दौ सौ मीटर गहरा किया जाएगा। इनमें खंभों का आधार बनाया जाएगा। बता दें कि राम मंदिर का ढांचा खंभों पर अवस्थित होगा। मंदिर में करीब 1200 खंभे होंगे।

बैठक भी होगी

आपको बता दें कि भवन निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेन्द्र मिश्रा अयोध्या में ही हैं। वह अगले दो दिन तक निर्माण संबंधी गतिविधियों की समीक्षा करेंगे. इसके बाद वे न्यास के पदाधिकारियों के साथ बैठक में भाग लेंगे।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here