इंदौर।   मीडिया ने पहले ही अंदेशा जताया था कि बड़ी आईटी कम्पनियों के खिलाफ शासन-प्रशासन लाख चाहकर भी कड़ी कार्रवाई नहीं कर सकेगा। 230 एकड़ जमीन टीसीएस-इन्फोसिस को सुपर कॉरिडोर पर कौडिय़ों के मोल दे डाली और अब जांच के बाद यह सिद्ध भी हो गया कि इन दोनों कम्पनियों ने लीज शर्तों का उल्लंघन किया, लेकिन शासन ने भी पलटी मार दी। इंदौर आए विभागीय मंत्री ने ना सिर्फ दोनों आईटी कम्पनियों के कैम्पस का दौरा किया, बल्कि उनके निर्माण कार्यों की सराहना करते हुए एक तरह से क्लीनचिट ही दे डाली और बोले कि जमीन छिनना उद्देश्य नहीं है। दो गुना से अधिक रोजगार ये कम्पनियां अब उपलब्ध करवाएं।

पिछले दिनों मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के निर्देश पर कलेक्टर मनीष सिंह ने टीसीएस-इन्फोसिस को आवंटित जमीन और लीज शर्तों के उल्लंघन की जांच शुरू की और डिप्टी कलेक्टर प्रतुल्ल सिन्हा को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई। जांच में यह साबित भी हुआ कि दोनों कम्पनियों ने आबंटित जमीन में से आधी का भी इस्तेमाल नहीं किया और तय शर्तों के मुताबिक रोजगार उपलब्ध करवाने में फिसड्डी साबित हुई। मगर चूंकि मामला दिग्गज आईटी कम्पनियों का है, लिहाजा जमीन वापस लेने से लेकर अन्य कार्रवाई अब ठंडे बस्ते में ही चली गई और सुक्ष्म, लघु, मध्यम उद्यम एवं विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने तो क्लीनचिट ही दे डाली और कहा कि आईटी सेक्टर में रोजगार की अपार संभावनाएं मौजूद है और टीसीएस-इन्फोसिस भी आने वाले समय में रोजगार बढ़ाए। उन्होंने दोनों कम्पनियों के विशाल परिसर का भ्रमण भी किया और कम्पनी अधिकारियों ने पॉवर पाइंट प्रजेंटेशन देकर सफाई भी प्रस्तुत की। वहीं मंत्री श्री सकलेचा इलेक्ट्रॉनिक कॉम्प्लेक्स भी पहुंचे और वहां भी आईटी सेक्टर की कम्पनियों से चर्चा करते हुए उनकी हर समस्या के निराकरण का भी भरोसा दिलाया। श्री सखलेचा ने कहा कि आईटी सेक्टर में वर्तमान में रोजगार की अपार संभावनएं है। इस सेक्टर में प्रदेश के अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार मिले इसके लिये राज्य शासन द्वारा निरंतर प्रयास किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि इस सेक्टर में अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार दिलाने के लिये इंदौर में शीघ्र ही आईटी सेक्टर की अनेक प्रतिष्ठित कंपनियों के सहयोग से जॉबफेयर आयोजित किया जायेगा। इसके अलावा अगले माह इंदौर में ही आईटी कंपनियों, इंजीनियरिंग कॉलेजों एवं इस सेक्टर के विद्यार्थियों का संयुक्त सेमिनार भी आयोजित किया जायेगा। श्री सखलेचा ने यह बात इलेक्ट्रानिक कॉम्पलेक्स में आईटी सेक्टर की कंपनियों के प्रतिनिधियों से चर्चा के दौरान कही। इस अवसर पर उन्होंने आईटी कंपनियों की समस्याओं को सुना और कहा कि उनका हर संभव निराकरण किया जायेगा।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here