टोक्‍यो: वंदना कटारिया की ऐतिहासिक हैट्रिक की बदौलत भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को दक्षिण अफ्रीका को रोमांचक मैच में हराकर क्‍वार्टर फाइनल में पहुंचने की अपनी उम्‍मीदों को जीवित रखा है। वंदना कटारिया ओलंपिक्‍स में हैट्रिक जमाने वाली भारत की पहली महिला हॉकी खिलाड़ी बनी। वंदना के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को रोमांचक मुकाबले में 4-3 से मात दी।

भारत के लिए वंदना कटारिया ने तीन जबकि नेहा गोयल ने एक गोल किया। दक्षिण अफ्रीका के लिये टैरिन ग्लास्बी, कप्तान एरिन हंटर और मारिजेन मराइस ने गोल दागे। भारत को अब दुआ करनी होगी कि आखिरी ग्रुप मैच में आयरलैंड की टीम ब्रिटेन से हार जाये या ड्रॉ खेले।

वंदना कटारिया ने चौथे, 17वें और 49वें मिनट में गोल करके ऐतिहासिक हैट्रिक पूरी की। नेहा गोयल ने 32वें मिनट में भारतीय टीम के लिए गोल दागा। भारतीय महिला हॉकी टीम ने जरूर गेंद पर ज्‍यादा कब्‍जा रखा, लेकिन दक्षिण अफ्रीका की टीम गोल करने में कामयाब रही। दक्षिण अफ्रीका ने ग्रुप मैच में अपने सभी मुकाबले गवाएं। उसकी तरफ से टैरिन ग्‍लास्‍बी (15वें), कप्‍तान एरिन हंटर (30वें) और मारिजेन मरैस (39वें) ने गोल किए।

भारत के अब 6 अंक है और वह आयरलैंड से आगे ग्रुप में चौथे स्‍थान पर है। भारत का गोल फर्क  (-7) आयरलैंड (-5) की तुलना में अलग है। आयरलैंड का मुकाबला अब ग्रेट ब्रिटेन से होगा। आयरलैंड अगर मुकाबला जीतता है या फिर ड्रॉ कराने में सफल होता है तो भारत ओलंपिक्‍स से बाहर हो जाएगा। भारतीय टीम ने शुरूआती तीन मैचों में शिकस्‍त झेली थी, जिसके बाद क्‍वार्टर फाइनल में उनके पहुंचने की उम्‍मीदें कम हो गई थीं। हालांकि, आयरलैंड के खिलाफ पिछले मैच में 1-0 की जीत के बाद वह क्‍वार्टर फाइनल में पहुंचने की रेस में लौटी।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here