इंदौर। कोरोना  (Corona) की वजह से अपने माता या पिता को खोने वाले बच्चों (kids)  की मदद के लिए कलेक्टर (Collector) ने शहर के दानदाताओं से अपील की है कि वह कम से कम एक या ज्यादा से ज्यादा सिंगल पैरेंट वाले बच्चे की आर्थिक मदद करने की कोशिश करें। दानदाता 2000 रुपए एक साल तक प्रतिमाह देकर ऐसे बच्चों की मदद कर सकते हैं।इस योजना के अंतर्गत सिंगल पैरेंट बच्चों के लिए सरकार ने जो  गाइड लाइन तय कर जितनी राशि आवंटित की है उससे सिर्फ 10 प्रतिशत बच्चों को ही सहायता मिल पा  रही है, जबकि 300 से ज्यादा बाकी बच्चे सहायता का इंतजार कर रहे हैं। इसी मानवीय  समस्या के चलते इंदौर कलेक्टर मनीषसिंह  ने  इंदौर जिले के दानदाताओं, स्वयंसेवी, समाजसेवी, सामाजिक, व्यापारिक, औद्योगिक संगठनों सहित आमजनों से ऐसे बालक अथवा बालिकाओं के लिए दो हजार रुपए प्रतिमाह कम से कम एक वर्ष  के लिए सहयोग देने की अपील की है, ताकि कोरोना के कारण माता या पिता में से किसी एक को खो दिया है, ऐसे बच्चों का भविष्य बर्बाद होने से बच सके।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here