नई दिल्ली। दुनिया की सबसे मशहूर टी20 लीग आईपीएल में अब तक अपने पहले खिताब को जीतने का इंतजार कर रही रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) की टीम इस साल चैम्पियन बनने के सबसे प्रबल दावेदारों में से एक है। भले ही टीम ने पिछले 12 सीजन में एक बार भी खिताब नहीं जीता हो लेकिन इस साल टीम काफी मजबूत होने के साथ ही कॉन्फिडेंट भी नजर आ रही है। उल्लेखनीय है कि विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने साल 2016 में आखिरी बार फाइनल तक का सफर तय किया था हालांकि सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों उसे हार का सामना करना पड़ा था।

गंभीर ने बताया कि इस बार क्यों खुश हैं कोहली

2016 के बाद से इस टीम का प्रदर्शन इतना लचर रहा कि टीम प्लेऑफ तक भी जगह नहीं बना पाई है। वहीं पिछले साल टीम प्वाइंटस टेबल में सबसे निचले पायदान पर रही थी। हालांकि इस साल टीम हर तरह से बेहतर और बैलेंसड नजर आ रही हैं। इस बीच भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने धोनी और कोहली की कप्तानी में फर्क बताते हुए आरसीबी की टीम की तारीफ की और बताया कि क्यों इस साल यह टीम खिताब जीत सकती है।

गंभीर ने बताया कि इस बार क्यों खुश हैं कोहली

स्टार स्पोर्टस के शो ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में शिरकत करते हुए कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर ने विराट कोहली को इस साल अपनी टीम से खुश बताया और कहा कि वह इस बार चैम्पियन बन सकते हैं। इस बीच गंभीर ने यह भी कहा कि भले कोहली को उनकी टीम बैलेंसड नजर आ रही हो लेकिन उनके हिसाब से टीम की बल्लेबाजी अब भी गेंदबाजी के मुकाबले ज्यादा भारी है। उन्होंने कहा, ‘विराट कोहली का मानना है कि बतौर कप्तान जब आप अपनी टीम से संतुष्ट होते हैं तो आपके मन में शांति होती है और आपको पता होता है कि आपका प्लेइंग इलेवन क्या होगा। जो कि उन्हें खिताब जीतने कै लिये ज्यादा बेहतर तैयार करता है। हालांकि मुझे अब भी लगता है कि आरसीबी की बल्लेबाजी उनकी गेंदबाजी की तुलना में ज्यादा भारी है। हालांकि उनके गेंदबाज इसलिए खुश हैं क्योंकि उन्हें इस साल चिन्नास्वामी स्टेडियम में सात मैच नहीं खेलने।’

गंभीर ने बताया आईपीएल में कोहली से बेहतर क्योंं हैं धोनी

गंभीर ने बताया आईपीएल में कोहली से बेहतर क्योंं हैं धोनी

इसी शो के दौरान गंभीर ने चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी और विराट कोहली की कप्तानी में फर्क बताते हुए कहा कि दोनों के सोचने का तरीका अलग है। जहां धोनी पहले कुछ मैचों में अपनी प्लेइंग इलेवन में बदलाव नहीं करते तो वहीं कोहली लगातार अपने प्लेइंग इलेवन में बदलाव करते नजर आते हैं। गौतम गंभीर के अनुसार विराट कोहली को पहले 6-7 मैचों में प्लेइंग इलेवन के साथ कोई छेड़-छाड़ नहीं करनी चाहिये। उन्होंने कहा, ‘धोनी पहले 6-7 मैचों में वही टीम रखते हैं और आरसीबी लगातार प्लेइंग इलेवन में बदलाव करती है। लिहाजा उनकी टीम में संतुलन नहीं बैठ पाता। इसलिए मैं चाहता हूं कि यदि आरसीबी की अच्छी शुरुआत नहीं होती तब भी उन्हें 6-7 मैचों में वही प्लेइंग इलेवन खिलानी चाहिए।’

आरसीबी के प्रदर्शन पर निर्भर करती है जीत गौरतलब है कि इस सीजन रॉयल चैलेंजर्स की टीम सबसे संतुलित नजर आ रही है और इस बात को खुद कप्तान विराट कोहली मानते हैं। हालांकि यहां पर देखना होगा कि टीम लीग में प्रदर्शन कैसा करती है और उम्मीद के अनुसार बेहतर प्रदर्शन करती है या फिर पिछले 3 सीजन से चली आ रही कहानी को दोहराने वाली है। आपको बता दें कि आरसीबी की टीम अपना पहला मैच 21 सितंबर को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ दुबई में खेलती नजर आयेगी।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here