पेरिस।  ढलती उम्र के रफेल नडाल की टेनिस की चमक अभी भी कायम है। उन्होंने फ्रेंच ओपन टेनिस के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में इटली के 19 साल के जानिक सिनर को 7-6(4), 6-4, 6-1 से मात दी। राफेल नडाल रोलां गैरो पर 13वीं बार सेमीफाइनल में पहुंच गए। अब 34 साल के इस धुरंधर का मुकाबला अर्जेंटीना के 12वीं सीड डिएगो श्वार्ट्जमैन से होगा। ये वही श्वार्ट्जमैन है, जिन्होंने पिछले महीने इटालियन ओपन के क्वार्टर फाइनल में नडाल को मात दी थी।

Diego Schwartzman stuns US champion Dominic Thiem in epic five-setter to  reach French Open semi-finals | London Evening Standard
डिएगो श्वार्ट्जमैन

रोलां गैरो के बादशाह का 100वां मैच था। यह उनकी रिकॉर्ड 98वीं जीत रही. यहां अब तक उन्होंने दो ही मुकाबले गंवाए हैं। 13वां फ्रेंच ओपन खिताब जीतने के प्रयास में जुटे नडाल कामयाब रहे तो खिताब से उनकी मेजर ट्रॉफियों की संख्या 20 हो जाएगी और वह रोजर फेडरर के रिकॉर्ड के बराबर पहुंच जाएंगे।

रोलां गैरो के बादशाह 12 बार के चैम्पियन नडाल को इटली के 19 साल के जानिक सिनर से शुरू में चुनौती मिली, लेकिन इसके बाद उन्हें 7-6 (4), 6-4, 6-1 से मैच जीतने में किसी तरह की परेशानी नहीं हुई। सर्द हवाएं चल रही थीं और ऐसे में यह मैच स्थानीय समयानुसार रात लगभग एक बजकर 30 मिनट पर खत्म हुआ।इससे पहले अर्जेंटीना के 12वें वरीय श्वार्ट्जमैन ने एक अन्य क्वार्टर फाइनल मैच में यूएस ओपन चैम्पियन और रोलां गैरो में दो बार के उपविजेता डोमिनिक थीम को पांच सेट तक चले कड़े मुकाबले में 7-6 (1), 5-7, 6-7 (6), 7-6 (5), 6-2 से हराया था।

इस बार देर रात तक भी मुकाबले हो रहे हैं क्योंकि पहली बार इस क्ले कोर्ट टूर्नामेंट में दूधिया रोशनी का उपयोग किया जा रहा है। नडाल ने मैच के बाद कहा, ‘निश्चित तौर पर तड़के एक बजकर 30 मिनट पर मैच का समापन आदर्श स्थिति नहीं है। यहां बहुत सर्दी है। ईमानदारी से कहूं तो टेनिस खेलने के लिए मौसम बहुत बहुत ठंडा है। इस तरह की परिस्थितियों में खेलना शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकता है।’ 

उधर, अर्जेंटीना की नादिया पोदोरोस्का तीसरी वरीयता प्राप्त इलेना स्वितोलिना को हराकर ओपन युग में फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली क्वालिफायर बन गईं। रोलां गैरो में पहुंचने से पहले कभी मुख्य ड्रॉ का मैच नहीं जीत पाने वाली पोदोरोस्का ने 6-2, 6-4 से जीत दर्ज की। अब सेमीफाइनल में उनका मुकबला पोलैंड की 19 साल की इगा स्वियातेक से होगा।

नादिया सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली क्वालिफायर//

पहली बार लाल बजरी पर खेल रही अर्जेंटीना की 23 वर्षीय नादिया पोडोरोस्का ने सेमीफाइनल में प्रवेश कर इसे यादगार बना दिया। दुनिया की 131वें नंबर की खिलाड़ी नादिया ने क्वार्टर फाइनल में तीसरी वरीयता प्राप्त इलिना स्वितोलिना को एक घंटे 19 मिनट तक चले मुकाबले में 6-2,6-4 से शिकस्त दी। अपने दूसरे ग्रैंड स्लैम में खेल रही नादिया ओपन इरा (1968 के बाद) में रोलां गैरां के अंतिम चार में पहुंचने वाली पहली महिला क्वालिफायर हैं। यह तीसरा मौका है जब यूक्रेन की स्वितोलिना पेरिस में अंतिम आठ से आगे नहीं बढ़ पाईं।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here