कराची: पाकिस्तान के बांए हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने गुरुवार को अचानक अंतररराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया।

आमिर ने पीसीबी के ऊपर मानसिक प्रताड़ना जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं। साल 2017 में पाकिस्तान को भारत के खिलाफ लॉर्ड्स में खेले गए फाइनल मुकाबले में शानदार गेंदबाजी करके चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब दिलाने वाले आमिर का इस तरह क्रिकेट को अलविदा कहना हजम नहीं हो रहा है।17 साल की उम्र किया था डेब्यू, स्पॉट फिक्सिंग के रहे आरोपी 

साल 2009 में महज 17 साल की उम्र में डेब्यू करने वाले आमिर ने करियर की शानदार शुरुआत की थी। लेकिन इंग्लैंड में स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी पाए जाने के बाद उनके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने पर पांच साल का प्रतिबंध लगा था। ऐसे में उन्होंने दोबारा वापसी करते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सफलता का परचम लहराया। आमिर ने पाकिस्तान के लिए 36 टेस्ट, 61 वनडे और 50 टी20 मैच खेले और कुल 259 विकेट हासिल किए। उन्होंने टेस्ट में 119, वनडे मनें 81 और अंतरराष्ट्रीय टी20 में 59 विकेट लिए। साल 2019 में विश्व कप के बाद आमिर ने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।

मौजूदा पाकिस्तानी मैनेजमेंट के साथ खेलना मुश्किल
28 वर्षीय आमिर ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में कहा कि मौजूदा पाकिस्तानी मैनेजमेंट के साथ काम नहीं कर सकते इसलिए क्रिकेट छोड़ देना ही उनके लिए अच्छा है। उन्होंने कहा है कि वो जल्दी ही इस बारे में विस्तृत बयान जारी करेंगे। उन्होंने कहा, इमानदारी से कहूं तो मैं मौजूदा मैनेजमेंट के साथ क्रिकेट नहीं खेल सकता। मैं क्रिकेट को अलविदा कह रहा हूं। मेरा मानसिक शोषण हुआ  मैं इसका सामना नहीं कर सकता। मैंने साल 2010 से 2015 तक पांच साल इसका सामना किया है। मुझे बार बार ये बात सुनने को मिली है कि उन्होंने मेरे ऊपर बहुत निवेश किया है। मैं शाहिद अफरीदी का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे वापसी के बाद मौका दिया।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here