मेलबर्न में खेले जा रहे बॉक्सिंग-डे टेस्ट में पहला दिन खत्म होने तक भारतीय टीम ने 1 विकेट गंवाकर 36 रन बना लिए हैं। साथ ही ऑस्ट्रेलिया टीम पहली पारी में 195 रन पर सिमट गई। इस लिहाज से टीम ने 159 रन की बढ़त बना ली है। फिलहाल, शुभमन गिल और चेतेश्वर पुजार नाबाद हैं। यह क्रिकेट इतिहास में पहली बार है, जब ऑस्ट्रेलिया टीम बॉक्सिंग-डे टेस्ट के पहले दिन ऑलआउट हुई है। इससे पहले टीम 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट के पहले दिन 98 रन ही बना सकी थी।

पहली पारी में भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। ओपनर मयंक अग्रवाल पारी के पहले ही ओवर में पवेलियन लौट गए। वे खाता भी नहीं खोल सके। मिचेल स्टार्क ने उन्हें LBW किया।ऑस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में मार्नस लाबुशेन ने सबसे ज्यादा 48 और ट्रेविस हेड ने 38 रन की पारी खेली। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने 4 और स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 3 विकेट लिए। डेब्यू मैच में मोहम्मद सिराज को 2 विकेट मिले।ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत ही खराब रही थी। टीम ने 38 रन पर 3 विकेट गंवा दिए थे। इस दौरान जो बर्न्स और स्टीव स्मिथ खाता भी नहीं खोल सके। इसके बाद ट्रेविस हेड और मार्नस लाबुशेन ने पारी संभाली और चौथे विकेट के लिए 86 रन की पार्टनरशिप की। इसके बाद टीम पूरी तरह लड़खड़ाई और आखिरी 71 रन बनाने में 7 विकेट गंवा दिए।

बुमराह ने 4 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा
तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया के 4 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा। पहला विकेट भी बुमराह ने ही लिया था। ओपनर जो बर्न्स बिना खाता खोले विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट हुए। उन्होंने टीम को चौथा झटका देते हुए ट्रेविस हेड को 38 रन पर आउट किया। अजिंक्य रहाणे ने उनका कैच लिया। बुमराह ने तीसरे विकेट के तौर पर मिचेल स्टार्क (7) को सिराज के हाथों कैच आउट कराया।

डेब्यू टेस्ट में सिराज को दो विकेट
तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने डेब्यू टेस्ट में दो विकेट लिए। उन्होंने मार्नस लाबुशेन (48) और कैमरून ग्रीन (12) को पवेलियन भेजा। लाबुशेन का कैच शुभमन गिल ने लिया। संयोग की बात है कि गिल का भी यह डेब्यू मैच में पहला कैच रहा। ग्रीन को सिराज ने LBW किया।

अश्विन ने 3 बड़े झटके दिए
रविचंद्रन अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया को 3 बड़े झटके दिए। उन्होंने कप्तान टिम पेन के रूप में ऑस्ट्रेलिया को 7वां झटका दिया। पेन 13 रन बनाकर हनुमा विहारी के हाथों कैच आउट हुए। स्टीव स्मिथ खाता भी नहीं खोल सके। चेतेश्वर पुजारा ने उनका कैच लिया। इससे पहले अश्विन ने ओपनर मैथ्यू वेड को 30 रन पर रविंद्र जडेजा के हाथों कैच आउट कराया।

मैच में डीन जोन्स को श्रद्धांजलि
टी-टाइम के बीच पूर्व ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर डीन जोन्स को श्रद्धांजलि दी गई। लीजेंड का बैट, कैप और चश्मा स्टंप्स के पास रखा। इस दौरान जोन्स की पत्नी जाने, बेटी अगस्ता और फोबी के साथ लीजेंड पूर्व क्रिकेटर एलन बॉर्डर भी मौजूद रहे। इसके साथ ही कुछ फैंस भी डीन जोन्स को श्रद्धांजलि देने के लिए बैनर लेकर पहुंचे। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने इस मैच के लिए 30 हजार फैंस को स्टेडियम में आने की अनुमति दी है।

इसी साल सितंबर में डीन जोन्स का मुंबई के एक होटल में हार्ट अटैक से निधन हो गया था। 59 साल के जोन्स इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के क्रिकेट कमेंट्री पैनल में थे।

सिराज की बाउंसर लाबुशेन के हेलमेट में बॉल लगी
तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज की एक बाउंसर मार्नस लाबुशेन के हेलमेट में लगी। अच्छी बात यह रही कि लाबुशेन को चोट नहीं लगी। हेलमेट डैमेज हो गया, जिस कारण उसे बदलना पड़ा। यह घटना पहली पारी के 36वें ओवर में हुई।

स्मिथ पहली बार भारत के खिलाफ खाता नहीं खोल सके
स्टीव स्मिथ पहली बार टीम इंडिया के खिलाफ बिना खाता खोले आउट हुए हैं। अब तक उन्होंने इंडिया के खिलाफ 12 टेस्ट में 1431 रन बनाए हैं। इसमें 7 शतक शामिल हैं। दो बार एक रन पर आउट हुए हैं। भारत के खिलाफ उनका बेस्ट स्कोर 192 रन है, जो उन्होंने 2014 में मेलबर्न में ही बनाया था।

कोहली की गैरमौजूदगी में रहाणे कप्तानी संभाल रहे

भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन एक दिन पहले ही घोषित कर दी गई। टीम में 4 बदलाव किए गए। शुभमन गिल और तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज का यह डेब्यू टेस्ट है। विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा की जगह ऋषभ पंत को मौका मिला। पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे ओपनर पृथ्वी शॉ को बाहर कर दिया गया।

वहीं, ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा को टीम में जगह मिली है। कप्तान विराट कोहली पैटरनिटी लीव पर भारत लौट आए हैं। ऐसे में कप्तानी का जिम्मा अजिंक्य रहाणे को सौंपा गया है। मिडल ऑर्डर बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा उप कप्तान होंगे। कोच रवि शास्त्री ने शुभमन को डेब्यू कैप नंबर 297 और रविचंद्रन अश्विन ने सिराज को डेब्यू कैप नंबर 298 सौंपी।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here