नईदिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से कोरोना से जंग के खिलाफ बड़ा फैसला लिया गया है। 1 अप्रैल से देश में 45 साल से अधिक आयु के सभी लोगों को कोरोना वायरस का टीका लगेगा। केंद्रीय कैबिनेट की ओर से मंगलवार को इस फैसले को मंजूरी दी गई है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कैबिनेट के फैसलों के बारे में बताते हुए यह जानकारी दी। जावड़ेकर ने कहा कि कोरोना वैक्सीन सभी लोगों के लिए लगवाना जरूरी है और इसके लिए सभी पात्र लोग अपना रजिस्ट्रेशन करवाएं।

उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ाई में यह सबसे असरदार कवच है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमें कम से कम एक से डेढ़ साल तक और मास्क लगाने की जरूरत है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस दौर में कोरोना से लड़ाई में ढिलाई नहीं बरती जा सकती। फिलहाल देश भर में 60 साल से अधिक आयु के सभी लोगों को टीका लग रहा है, जबकि 45 साल से अधिक के उन लोगों का टीकारण किया जा रहा है, जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं।

कई और टीकों को जल्द मिल सकती है मंजूरी: केंद्रीय मंत्री ने कोरोना वैक्सीन में कमी के सवाल पर कहा कि देश में टीकों की पर्याप्त संख्या मौजूद है। उन्होंने कहा कि हमने चरणबद्ध तरीके से लोगों को वैक्सीन देने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन के लिए 45 साल से अधिक के सभी लोग तत्काल रजिस्ट्रेशन कराएं और कोरोना का टीका लगवाएं। उन्होंने कहा कि अभी देश में कई और कोरोना टीके ट्रायल के फेज में हैं और जल्द ही इन्हें मंजूरी मिल सकती है।

कोविशील्ड वैक्सीन की दो डोज के बीच रहेगा 4 से 8 सप्ताह का गैप: इस बीच कोविशील्ड वैक्सीन की दोनों डोज के बीच बढ़ाए गए गैप के बारे में भी प्रकाश जावड़ेकर ने बताया। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों और दुनिया भर के एक्सपर्ट्स की राय के आधार पर यह फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज 4 से 8 सप्ताह के बीच में ली जा सकती है। उन्होंने कहा कि हम सभी लोगों से अपील करते हैं कि वे कोरोना वैक्सीन के लिए अपना पंजीकरण करा लें क्योंकि यह कोरोना के खिलाफ एकमात्र कवच है। बता दें कि महाराष्ट्र, पंजाब, मध्य प्रदेश, गुजरात समेत कई राज्यों में कोरोना की रफ्तार बीते करीब 15 दिनों में काफी तेज हो गई है।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here