भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में नौतपा 25 मई से 2 जून तक(Nautapa from 25 May to 2 June) होगा. लेकिन, इस नौतपे में मौसम के हालात मिले-जुले रहेंगे. मौसम विभाग(weather department) का कहना है कि नौतपे के चार दिन ही गर्म (Four days hot) रहेंगे, जबकि बाकी दिनों में बारिश होने की संभावना (Chance of rain for the remaining days) है. पिछली बार ही की तरह इस नौतपे में भी लोगों को भीषण गर्मी का सामना नहीं करना होगा.
मौसम विभाग(weather department) के मुताबिक, बीते 9 सालों में सिर्फ 3 साल ही ऐसे रहे, जब नौतपा सबसे ज्यादा गर्म रहा है. साल 2015, 2018 और 2019 में नौतपा में औसत तापमान 43 डिग्री के पार था, बाकी 6 सालों में औसत तापमान 45 डिग्री तक भी नहीं पहुंच सका. साल 2013 में औसत तापमान 41.2 डिग्री था, 2016 में नौतपा से सबसे सबसे कम तपा था. उस वक्त औसत तापमान 41.1 डिग्री रहा. 2018 में दिन का औसत तापमान 43.7 डिग्री था. साल 2018 देश भर में सबसे गर्म सालों में गिना जाता है. 2020 में तापमान 41.4 डिग्री था.

चक्रवाती तूफान के और विकराल होने की आशंका
अरब सागर से उठा तौकते विकराल रूप लेता जा रहा है. इसके मद्देनजर प्रशासन और सुरक्षा दल सतर्क हैं. एनडीआरएफ (NDRF) ने हालात की गंभीरता को देखते हुए 53 टीमों की तैनाती की है. मौसम विभाग ने भी अगले 24 घंटों में चक्रवाती तूफान के और विकराल होने की आशंका जताई है. जानकारों ने अनुमान लगाया था कि 15 मई यानी शनिवार को यह समुद्री तूफान बन जाएगा और उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा. कहा जा रहा है कि यह तूफान गुजरात (Gujarat) की तरफ बढ़ेगा.

केरल के कोट्टायम तट पर तेज बारिश
शुक्रवार को केरल के कोट्टायम तट पर तेज बारिश दर्ज की गई है. मौसम की जानकारी देने वाली एजेंसी स्कायमेट वेदर ने अनुमान लगाया है कि अगले 48 घंटों में केरल, कर्नाटक और कोंकण में गंभीर मौसम स्थिति तैयार हो सकती है. रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि तूफान के आगे बढ़ने का प्रभाव कर्नाटक, महाराष्ट्र, लक्षद्वीप, गोवा में भी नजर आएगा. यहां तेज हवाएं चलने का अनुमान है. मौसम विभाग ने मुंबई और ठाणे में यलो अलर्ट जारी कर दिया है. जबकि, गुजरात और केरल के कुछ जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here