-भारत के लिए पैरालंपिक में शनिवार का दिन रहा शानदार

-स्वर्ण पदक विजेता मनीष नरवाल को 6 करोड़ और सिंहराज को 4 करोड़ देगी हरियाणा सरकार

-खट्टर सरकार दोनों खिलाड़ियों को देगी सरकारी नौकरी

चंडीगढ़: भारत के लिए शनिवार का दिन पैरालंपिक खेलों में शानदार रहा और 1 स्वर्ण, 1 रजत तथा एक कांस्य सहित भारत ने आज तीन पदक अपने नाम किए। इस तरह भारत के पदकों की संख्या टोक्यो पैरालंपिक में 15 हो गई है जो पैरालंपिक के इतिहास में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। निशानेबाज मनीष नरवाल ने पैरालम्पिक रिकॉर्ड के साथ टोक्यो खेलों में भारत की झोली में तीसरा स्वर्ण पदक डाला जबकि सिंहराज अडाना ने रजत पदक जीता। पी4 मिश्रित 50 मीटर पिस्टल एसएच 1 स्पर्धा में शीर्ष दोनों स्थान भारत के नाम रहे। दोनों खिलाड़ियों के हरियाणा सरकार ने नकद धनराशि और सरकारी नौकरी दिए जाने का ऐलान किया है।

हरियाण सरकार ने किया पुरस्कार का ऐलान

हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने गोल्ड मेडल जीतने वाले मनीष नरवाल को 6 करोड़ रुपये और सिल्वर मेडल जीतने वाले सिंहराज अडाना को 4 करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि देने का ऐलान किया है। इतना ही नहीं दोनों खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। इससे पहले हरियाणा सरकार ने इसी तरह पदक जीतने पर टोक्यों ओलंपिक के विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया था।

सिंहराज के परिवार में जश्न

सिल्वर पदक जीतने वाले सिंहराज अधाना के परिवार में जमकर जश्न मनाया गया। उनके पिता ने कहा, ‘मैं अपनी खुशी जाहिर नहीं कर पा रहा हूं। मेरी खुशी का कोई ठिकाना नहीं है।’ वहीं सिंहराज की मां ने पदक जीतने पर खुशी जाहिर करते हुए खहा, ‘मेरे बेटे ने देश को गौरवान्वित किया, मुझे सकी बहुत खुशी है।’ सिंहराज की पत्नी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं आज, हम सबने उन्हें सपोर्ट किया औऱ भारत ने आज दो पदक जीते।’

पीएम ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तोक्यो पैरालम्पिक में पदक जीतने के लिए मनीष नरवाल और सिंघराज अडाना को शनिवार को बधाई दी और कहा कि जारी खेलों में गौरवशाली क्षण लगातार आ रहे हैं। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘ पैरालम्पिक से गौरवशाली क्षण लगातार आ रहे हैं। युवा और प्रतिभाशाली मनीष नरवाल की महान उपलब्धि। उनका स्वर्ण पदक जीतना भारतीय खेलों के लिए एक खास क्षण है। उन्हें बधाई। भविष्य के लिए शुभकामनाएं। सिंघराज अडाना ने दोबारा कर दिखाया। उन्होंने एक और पदक जीता, इस बार मिश्रित 50 मीटर पिस्टल एसएच1 स्पर्धा में। उनके इस कारनामे से भारत खुश है। भविष्य के लिए उन्हें शुभकामनाएं।’

आपको बता दें कि भारत के तीन खिलाड़ी मौजूदा विश्व चैम्पियन प्रमोद भगत, कृष्णा नागर और सुहास यथिराज शनिवार को टोक्यो पैरालम्पिक पुरूष एकल बैडमिंटन में अपने अपने वर्ग के फाइनल में पहुंच गए है और इस तरह तीन पदक भारत के और पक्के हो गए हैं।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here