भोपाल. इंडिया डेटलाइन. राहुल गांधी के महिला कांग्रेस में दिए गए भाषण ने उनके सामने मुसीबत खड़ी कर दी है। एक तरफ उन्हें महात्मा गांधी के साथ खड़ी महिलाओं से संबंधित कथन के लिए सोश्यल मीडिया पर खूब ट्रोल किया गया, वहीं हिंदू देवियों को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर लगाए गए आरोपों पर पुलिस में शिकायत की गई  है।

राहुल गांधी ने राजधानी दिल्ली में महिला कांग्रेस के स्थापना दिवस समारोह में कहा था ये (भाजपा) कैसे हिंदू हैं। ये झूठे हिंदू है, ये हिंदू धर्म का प्रयोग करते हैं मगर ये हिंदू नहीं हैं। ये धर्म की दलाली करते हैं। लक्ष्मी की शक्ति- रोजगार, दुर्गा की शक्ति-निडरता और सरस्वती की शक्ति- ज्ञान, भाजपा जनता से ये शक्तियां छीनने में लगी है। हमारा संकल्प है कि ये शक्तियां जनता तक पहुंचाने के लिए लड़ाई लड़ेगे।

राहुल के बयान पर पलटवार करते हुए मप्र के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि राहुल गांधी इच्छाधारी हिंदू हैं। गुरुवार को इंदौर में संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वे सुविधानुसार अपने धर्म को छोड़ते और अपनाते हैं। वह हिंदू धर्म और आस्था को अपमानित करने का कोई मौका नहीं छोड़ते। इधऱ , भोपाल के अरेरा कॉलोनी थाने में दी गई शिकायत में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड के सांसद राहुल गांधी ने पंंद्रह सितंबर को एक सार्वजनिक सभा में करोड़ो हिंदुओं की आस्था को चोट पहुंचाई है। उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक के लिए कहा है कि ये लोग जहां जाते हैं, लक्ष्मी और दुर्गा पर आक्रमण करते हैं। दुर्गा और लक्ष्मी को मारते हैं।  इसके पहले वह कश्मीर में दस सितंबर को कह चुके हैं कि मां लक्ष्मी व दुर्गा की शक्तियां कम हो रही हैं। श्री शर्मा ने कहा कि राहुल गांधी यह भी कह चुके हैं जो लोग मंदिर जाते हैं, वे लड़कियां छेड़ने जाते हैं।

उधर सोश्यल मीडिया पर राहुल गांधी के इस कथन पर खूब खबर ली गई कि जब आप महात्मा गांधी की तस्वीर देखते हो तो उनके आसपास तीन-चार महिलाएं दिखाई देती हैं। क्या आपने (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक) मोहन भागवत के साथ किसी महिला को देखा है। इस पर कई ट्वीटर हैंडलों पर शराब कारोबारी माल्या की तस्वीरें डलने लगीं जिसमें वह कई लड़कियों के साथ दिखाई दे रहा है। एक ट्वीटर ने लिखा-अगर दो-चार महिलाओं को साथ लेकर घूमना महिला सशक्तीकरण कहलाता है तो फिर अपने हरम में सैकड़ों महिलाओं को रखने वाले मुगल के सशक्तीकरण के पुरोधा थे।

टीवी एंकर रूबिका लियाकत ने ट्वीट कर बताया कि राहुल गांधी महिला कांग्रेस का स्थापना वर्ष भूल गए।  38 वें स्थापना दिवस पर कहा कि कांग्रेस महिला समिति पिछले 25 वर्ष से काम कर रही है। फिर मंच पर मौजूद महिला कांग्रेस के लोगों ने सुधार करवाया।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here