इंदौर। शहर  में यंू तो अनलॉक  के बाद हर तरह के अपराध  तेजी से बढ़ रहे हैं, लेकिन सबसे अधिक अपराध बाणगंगा और लसूडिया थाने  में दर्ज हो रहे हैं। साढ़े नौ माह में बाणगंगा   में 1497 और लसूडिय़ा  में 1360 केस दर्ज हुए हैं, जबकि पूरे जिले में 15 हजार के आसपास केस दर्ज हुए हैं।
पुलिस रिकॉर्ड  के अनुसार शहर में हर साल 20 हजार से अधिक केस  दर्ज होते हैं। इंदौर जिले में 45 थाने हैं। इसके अलावा महिला थाना, क्राइम ब्रांच   में भी अलग से केस दर्ज होते हैं, लेकिन इस बार जिस हिसाब से अपराध हो रहे हैं उससे लग रहा है कि इस बार यह रिकॉर्ड भी टूटेगा। साढ़े नौ माह में ही 15 हजार के आसपास केस दर्ज हो चुके हैं और अपराध   तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले कुछ समय से शहर में चेन लूट, वाहन चोरी, चाकूबाजी और हत्या की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। इस तरह की सभी घटनाएं बाणगंगा और लसूडिय़ा में हो रही हैं। पिछले कुछ दिनों में इन दोनों थानों में आधा दर्जन हत्याएं हो गईं, लेकिन पुलिस इस पर अंकुश नहीं लगा पा रही है। कभी बाणगंगा आगे तो कभी लसूडिय़ा। सबसे कम केस दर्ज होने का रिकॉर्ड सराफा थाने का है। यहां अब तक सौ के लगभग केस दर्ज हुए हैं। इससे लगभग 15 गुना अधिक केस बाणगंगा थाने में दर्ज हो रहे हैं, लेकिन फिर भी इन थानों के किसी भी पुलिसकर्मी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here