श्रीनगर /जम्मू-कश्मीर में बीते कुछ दिनों से बाहरी लोगों पर हमले बढ़ गए हैं। आतंकी यहां खासतौर से गैर-कश्मीरी मजदूरों को निशाना बना रहे हैं। रविवार को ही आतंकियों ने साउथ कश्मीर के कुलगाम में बिहार के 3 लोगों को गोली मार दी। इनमें से 2 लोगों की मौत हो गई, जबकि एक घायल है। कुलगांव के लारन गंजीपोरा एरिया में जिन्हें गोली मारी गई, वे सभी मजदूर थे।

इससे पहले, शनिवार को आतंकियों ने श्रीनगर के ईदगाह इलाके में बिहार के एक हॉकर को गोली मार दी थी। गंभीर स्थिति में उसे श्रीनगर के SMHS अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मारे गए व्यक्ति का नाम अरविंद कुमार साह था। वह बिहार के बांका जिले का रहने वाला था और रेहड़ी लगाकर पानी पुरी बेचता था। दूसरी घटना में आतंकियों ने शनिवार को ही पुलवामा में सगीर अहमद नाम के शख्स को गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। UP का रहने वाला सगीर कारपेंटर था।

जम्मू-कश्मीर में बढ़ी हिंसा के बीच घाटी छोड़कर जाते प्रवासी मजदूर।
जम्मू-कश्मीर में बढ़ी हिंसा के बीच घाटी छोड़कर जाते प्रवासी मजदूर।

हमले की खबरों से डरे कश्मीर के प्रवासी मजदूर
ऐसे माहौल में प्रवासी मजदूर जम्मू-कश्मीर छोड़कर जाने को मजबूर हो गए हैं। भारी संख्या में बाहरी मजदूरों के कश्मीर छोड़ने की खबर है। इन लोगों का कहना है कि मजदूरों पर जानलेवा हमले की खबरों से वे डर गए हैं। उन्हें यहां पर रहना सुरक्षित नहीं लग रहा है। कई प्रवासी मजदूर दीवाली पर घर जाने वाले थे, लेकिन हिंसा की वजह से त्योहार से पहले ही यहां से निकल रहे हैं।

प्रवासी मजदूर ग्रुप बनाकर रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड की ओर रवाना हो रहे हैं।
प्रवासी मजदूर ग्रुप बनाकर रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड की ओर रवाना हो रहे हैं।

घाटी छोड़कर जा रहे प्रवासी मजदूर पंकज पासवान के अनुभव
बिहार के रहने वाले प्रवासी मजदूर पंकज पासवान ने दैनिक भास्कर से मजदूरों के घाटी छोड़ने को लेकर जानकारी दी। पंकज ने बताया कि वो भी कश्मीर छोड़कर अपने घर लौट रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं गाड़ी पर बैठ गया हूं। श्रीनगर से निकल चुका हूं। मुझे 25 अक्टूबर को घर जाना था, लेकिन पहले ही निकल गया हूं। उन्होंने कहा कि कई लोग तो पहले ही जा चुके हैं। टीवी पर हमले की खबरें देखकर लोग डर गए हैं और अपने घर जा रहे हैं।

स्पेशल ऑपरेशन के लिए टीम कश्मीर पहुंची
गैर कश्मीरी लोगों में दहशत है। रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड और जगह-जगह पर मजदूर ग्रुप बनाकर अपने गृह राज्य के लिए रवाना हो रहे हैं। राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल, मध्य प्रदेश समेत दूसरे राज्यों के लोगों की भीड़ पलायन करती नजर आ रही है। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने स्पेशल ऑपरेशन के लिए एक टीम कश्मीर भेजी है। स्पेशल टीम यहां पर आतंक फैला रहे आतंकियों का खात्मा करेगी। यह टीम दिल्ली से कश्मीर पहुंच चुकी है।

जीतन राम मांझी बोले- बिहारियों को 15 दिन के लिए दे दें कश्मीर, सुधार नहीं दिया तो कहिएगा
जम्मू-कश्मीर में हो रहे लगातार आतंकी हमले पर बिहार में राजनीति तेज हो गई है। सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने PM नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि ‘अगर जम्मू-कश्मीर के हालात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से नहीं संभल रहे हैं, तो उसकी जिम्मेदारी बिहारियों को दे दें। 15 दिन में बिहारी जम्मू-कश्मीर के हालात सुधार देंगे।’ मांझी ने ये बयान दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में बिहारी मजदूरों की हत्या के बाद दिया है।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here