नई दिल्ली। त्योहारी सीजन शुरू हो चुका है। कुछ दिन बाद धनतेरस, दीपावली और छठ जैसे महापर्व भी नजदीक आ जाएंगे। ऐसे में राहत की बात यह है कि देश में कोरोना की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सोमवार को जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटों में 230 दिन यानी आठ महीने बाद पहली बार कोरोना के सबसे कम मरीज सामने आए हैं।

24 घंटों में 13,596 संक्रमित दर्ज किए हैं। जबकि, रविवार को यह आंकड़ा 14,146 था। लगातार घटते कोरोना मरीजों की संख्या के कारण देश में एक्टिव केस की संख्या भी तेजी से नीचे गिर रही है। अच्छी बात यह है कि अब एक्टिव केस की संख्या दो लाख से नीचे पहुंच चुकी है। सोमवार को जारी आंकड़ों के तहत देश में इस समय कुल 1,89,694 संक्रमित हैं।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में देशभर में 166 मौतें हुई हैं। इसके बाद कोरोना से कुल मरने वालों की संख्या 4,52,290 पहुंच गई है। वहीं रविवार को सामने आए नए मामलों के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 3,40,81,315 हो गई है।

कोरोना संक्रमितों की संख्या में गिरावट राहत की बात भले हो, लेकिन दूसरा तथ्य यह भी है देश में कोरोना जांच भी तेजी से घट गई है। ताजा जानकारी के मुताबिक एक लाख तक जांच कम हो रही है। चार अक्तूबर तक दैनिक जांच में करीब सात लाख से अधिक सैंपल की आरटीपीसीआर जांच की जा रही थी। अब यह संख्या लगातार घट रही है। पिछले एक से दो दिनों में 11 में से केवल छह लाख सैंपल की जांच आरटीपीसीआर के जरिए हुई।

अब तक 59.09 करोड़ सैंपल की जांच हो चुकी है। आईसीएमआर के विशेषज्ञों का मानना है कि आरटीपीसीआर जांच कम होने से मिसिंग केस लगातार बढ़ रहे हैं। इनसे संक्रमण फैलने का खतरा है। रिपोर्ट में चौंकाने वाली बात यह सामने आई है कि त्योहारों के दौरान बिहार व आंध्र प्रदेश में एक भी सैंपल की आरटीपीसीआर तकनीक से जांच नहीं हुई है। पिछले 24 घंटों के दौरान टीके की 41,20,772 खुराकें लगाने के साथ देश का कोविड-19 टीकाकरण कवरेज 97.65 करोड़ (97,65,89,540) के पार पहुंच गया है।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here