भोपाल: मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कॉमेडियन वीर दास को प्रदेश में कार्यक्रम करने की परमीशन नहीं दी जाएगी. उन्होंने एक सवाल के जवाब में यह बात कही. ‘आई कम फ्रॉम टू इंडियाज’ में भारत का मजाक बनाने के लिए दास के खिलाफ पुलिस में कई शिकायतें दर्ज कराई गई हैं. भाजपा नेता मिश्रा के इस बयान को लेकर विपक्षी दलों और कलाकारों ने उनपर निशाना साधते हुए कहा कि वह देश को ‘भीख’ में आजादी मिलने को लेकर फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के हाल ही के विवादित बयान पर चुप क्यों हैं.

‘माफी मांगे दास’

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘हम ऐसे मसखरे को कार्यक्रम नहीं करने देंगे. अगर वह माफी मांगते हैं तो हम इस पर विचार करेंगे.’ उन्होंने कहा कि कुछ मसखरे हैं जो भारत को बदनाम करने की कोशिश करते हैं और कपिल सिब्बल और अन्य कांग्रेसी नेता उनके समर्थक हैं. मंत्री ने कहा, ‘कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी विदेशी जमीन पर भारत को बदनाम करते हैं. मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख कमलनाथ भी ऐसा करते हैं.’ दरअसल दास ने सोमवार को यूट्यूब पर एक वीडियो अपलोड किया था. ‘आई कम फ्रॉम टू इंडियाज’ टाइटल वाला छह मिनट का यह वीडियो वॉशिंगटन डीसी के जॉन एफ कैनेडी सेंटर में उनके हालिया कार्यक्रम का हिस्सा है.

कांग्रेस उठा रही सवाल

वीर दास ने कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन, कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई, बलात्कार और महिलाओं से संबंधित मुद्दे और कॉमेडियन के खिलाफ कार्रवाई के मुद्दों को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी कीं. वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें देश-विरोधी कहा जा रहा है और देश के तमाम हिस्सों में उनके खिलाफ शिकायतें भी दर्ज हो चुकी हैं. गृह मंत्री के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए मध्य प्रदेश कांग्रेस महासचिव और मीडिया प्रभारी के के मिश्रा ने कहा कि नरोत्तम मिश्रा कॉमेडियन वीर दास को प्रदेश में कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं देने के निर्देश जारी कर रहे हैं, लेकिन दुर्भाग्य से फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के इस बयान पर चुप हैं कि भारत को ‘1947 में आजादी नहीं, बल्कि भीख मिली थी’ और ‘जो आजादी मिली है वह 2014 में मिली’ जब नरेंद्र मोदी सरकार सत्ता में आई.

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here