केन्द्रीय मंत्री श्री रामदास अठावले ने सम्मान पत्र भेंट किए

इन्दौर। समान सोसायटी द्वारा प्रशिक्षित पांच महिला मैकेनिकों की अनूठी पहल 23 नवंबर को नईदिल्ली में गर्लकाउंट नेटवर्क द्वारा आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन केन्द्रीय मंत्री श्री रामदास अठावले द्वारा सम्मानित किया गया। इस सम्मेलन में मध्यप्रदेश सहित देश के छह राज्यों गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल एवं झारखण्ड की महिला उद्यमी शामिल हुई। इस अवसर पर महिला उद्यमियों की चुनौतियों और सफलताओं पर चर्चा की गई।
गैर परंपरागत् व्यवसायों से जुड़ी महिला उद्यमियों के इस सम्मेलन में इन्दौर की महिला मैकेनिकों का काम अत्यन्त प्रशंसनीय माना गया। देश में पहली बार इन्दौर की महिलाओं ने मैकेनिक के रूप में अपनी नई पहचान कायम की। साथ ही देश का पहला महिला मैकेनिक गेराज शुरू करने का श्रेय भी इन्दौर का जाता है।
इस अवसर पर भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री रामदास अठावले ने कहा कि ‘महिलाएं उद्यमी के रूप में उभरकर अपने परिवार की आर्थिक तरक्की में महत्वपूर्ण योगदान प्रदान कर रही है। उनमें व्यवसाय की वे सभी क्षमताएं हैं जो पुरूषों में होती हैं। ये महिलाएं पूरे देश की महिलाओं को रोशनी दिखाएंगी, जिससे अन्य महिलाएं भी उद्यमी के रूप में सामने आ पाएगी। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री कौशल विकास कार्यक्रम का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत सरकार के इस कार्यक्रम के जरिये कई महिलाओं को कौशल और व्यवसाय के क्षेत्र में आगे आने का अवसर मिला।
मंत्री श्री रामदास अठावले ने इन्दौर की पांच महिला मैकेनिकों – श्रीमती सरोज रावत, शिवानी विश्वकर्मा, दुर्गा मीणा, सपना जाधव और भगवती वर्मा को सम्मानित करते हुए कहा कि उनकी यह पहल देश में नया बदलाव लाएगी। उल्लेखनीय है कि इन महिला मैकेनिकों द्वारा इन्दौर में टूव्हीलर गेराज संचालित किए जा रहे हैं। महिला मैकेनिक द्वारा संचालित इस तरह के गेराज फिलहाल देश में कहीं नहीं हैं। इस अवसर पर समान सोसायटी के निदेशक राजेन्द्र बंधु भी उपस्थित थे।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here