कानपुर । घाटमपुर तहसील के भीतरगांव ब्लॉक अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय (primary school) में पढ़ने वाले बच्चों (children) की सोमवार को उस वक्त हालत बिगड़ गई जब उन्हें खाने में मिड डे मील (mid day meal) दिया गया। दर्जनों बच्चों की बिगड़ी तबीयत देख विद्यालय प्रधानाध्यापक व शिक्षकों के होश उड़ गए और आनन-फानन स्वास्थ्य विभाग को सूचना देते हुए आलाधिकारियों को जानकारी दी गई। जानकारी मिलते ही अफसरों में खलबली मच गई। मामले को जानकारी मिलते ही 108 एम्बुलेंस से भीतरगांव स्थिति सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से डॉक्टरों की टीम विद्यालय पहुंच गई और बच्चों का उपचार शुरू कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक, भीतरगांव स्थित सरसरी गांव में परिषदीय प्राथमिक विद्यालय है। आज रोजाना की तरह रोस्टर डॉयट के तहत कार्यदायी संस्था मिड डे मिल लेकर विद्यालय पहुंचा। जहां बच्चों को मिड डे मिल में आया खाना परोसा गया। बच्चों के खाना खाने के बाद अचानक तबीयत बिगड़ गई। उल्टी व जी मिचलाने लगा। विद्यालय में एक साथ दर्जनों बच्चों की तबीयत बिगड़ी देख शिक्षक व प्रधानाध्यापक के होश उड़ गए और स्वास्थ्य विभाग व आलाधिकारियों को मामले की जानकारी दी गई। मौके पर 108 एम्बुलेंस के साथ भीतरगांव स्थिति सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से डाक्टरों की टीम पहुंची और बच्चों की जांच के साथ उपचार शुरू किया गया। इस दौरान हालत बिगड़ने पर चार बच्चों को एम्बुलेंस से इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। कुछ बच्चों को दवाईयां देते हुए गांव में ही उपचार जारी है।

इस मामले में फिलहाल कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं है। जबकि ग्रामीणों की माने तो विद्यालय के 47 बच्चों को खाने में मिड डे मिल दिया गया था, जिससे सभी की तबीयत बिगड़ गई थी। गनीमत यह रही कि समय से डॉक्टरों के विद्यालय पहुंचने के चलते उन्हें उपचार मिल गया और उनकी दर्जनों बच्चों की हालत में सुधार होने पर परिजन उन्हें घर ले गए हैं।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here