नई दिल्ली/रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन और एशिया सबसे बड़े रईस मुकेश अंबानी व अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौमतम अडानी गुजरात पर काफी मेहरबानी कर रहे हैं। अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) अगले 10 से 15 साल के दौरान गुजरात में हरित ऊर्जा और अन्य परियोजनाओं में 5.95 लाख करोड़ रुपये निवेश करने जा रही है तो अडानी समूह ने गुजरात में एक एकीकृत स्टील प्लांट लगाने और अन्य कारोबारी संभावनाओं की तलाश के लिए दक्षिण कोरियाई कंपनी पॉस्को के साथ पांच अरब डॉलर का प्रारंभिक समझौता किया है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज का एलान

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा कि कंपनी राज्य में एक लाख मेगावॉट का नवीकरणीय ऊर्जा संयंत्र और हरित हाइड्रोजन परिवेश के विकास के लिए 5 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी।  इसके अलावा कंपनी सौर फोटोवोल्टिक मॉड्यूल, हाइड्रोजन उत्पादन के लिए इलेक्ट्रोलाइजर, ऊर्जा भंडारण बैटरी और फ्यूल सेल के विनिर्माण के लिए कारखानों की स्थापना को लेकर 60,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। साथ ही अगले तीन से पांच साल में मौजूदा परियोजनाओं और नए उपक्रमों में 25,000 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा।

राज्य में करीब दस लाख रोजगार पैदा करेगी रिलायंस

इसके अलावा रिलायंस ने जियो के अपने दूरसंचार नेटवर्क को 5जी में बदलने के लिए तीन से पांच वर्ष में 7,500 करोड़ रुपये और रिलायंस रिटेल में अगले पांच साल के दौरान 3,000 करोड़ रुपये  निवेश करने का भी प्रस्ताव दिया है।  कंपनी ने एक बयान में कहा, “वाइब्रेंट गुजरात सम्मेलन 2022 के लिए प्रचार-प्रसार कार्यक्रम के दौरान बृहस्पतिवार को आरआईएल ने गुजरात सरकार के साथ कुल 5.95 लाख करोड़ रुपये के निवेश के लिए समझौते ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इन परियोजनाओं से राज्य में करीब दस लाख रोजगार के अवसर पैदा होने की संभावना है।” कंपनी ने गुजरात सरकार के परामर्श से कच्छ, बनासकांठा और धोलेरा में 1,00,000 मेगावॉट क्षमता की नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं के लिए जमीन तलाशने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here