गुजरात के वडोदरा में बलात्कार के मामले में जेल में बंद बगलामुखी मंदिर के संत प्रशांत उपाध्याय की शिष्या दिशा जॉन ने अब राज उगलने शुरू कर दिए हैं. पुलिस के सामने खुद दिशा ने ही कबूल किया है कि वो लड़कियों को तंत्र साधना के लिए प्रशांत के कमरे में भेजती थी .

दरअसल, खुद को देवी का स्वरूप बताने वाले प्रशांत उपाध्याय के खिलाफ नाबालिग लड़की का बार बार रेप किए जाने की शिकायत दर्ज की गई थी. इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने प्रशांत उपाध्याय को वडोदरा से गिरफ्तार कर लिया था. अब प्रशांत की साथी दिशा जॉन की गिरफ्तारी के बाद प्रशांत की कई करतूतें सामने आ रही हैं. दिशा ने पुलिस पूछताछ में यह बात कुबूल कर ली है कि प्रशांत के कहने पर वह बच्ची को उसके बेडरूम में भेजा करती थी. दिशा ने बताया कि प्रशांत मसाज करवाने का शौकीन था. वह पैर दबाने और मसाज के लिए अलग-अलग लड़कियों को रूम में बुलाता था और उनके वीडियो भी बनाता था प्रशांत की करतूतों की साथी दिशा जॉन की दो दिन का पुलिस रिमांड खत्म होने के बाद उसे जेल में भेज दिया गया है. प्रशांत की दूसरी दो साधिका दीक्षा और उन्नति को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने दो अलग-अलग टीम बनाई हैं. शिकायत में नाबालिग लड़की ने दीक्षा और उन्नति जोशी का भी नाम लिया है. बताया जा रहा है कि उन्नति जोशी और दीक्षा दोनों फिलहाल देश के बाहर दुबई में हैं. पीड़िता का कहना है कि वह उस समय मात्र 13 साल की थी. इसलिए किसी को बताने में डरती थी. वहीं, खुद उसका परिवार भी प्रशांत से काफी प्रभावित था. प्रशांत ने 2013 से 2017 तक कई बार उसके साथ रेप किया. लेकिन, हाल ही में जब एक अन्य लड़की ने प्रशांत के खिलाफ दुष्कर्म और धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया तो उसे भी हिम्मत मिल गई.

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here