नई दिल्ली
कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए वैक्सीन आने की संभावना प्रबल होते ही देश में टीकाकरण अभियान चलाने की तैयारी जोर पकड़ रही है। सरकार टीका देनेवाले कर्मचारियों (Vaccinators) की लिस्ट बना रही है जो अगले वर्ष 2021 के शुरुआती महीनों में 30 करोड़ देशवासियों को टीका लगाएंगे। फिर बाकी आबादी को भी सिलसिलेवार तौर पर वैक्सीन दिया जाएगा।

वैक्सीन अप्रूव होते ही युद्धस्तर पर शुरू हो जाएगा टीकाकरण अभियान

अभी सार्वजनिक क्षेत्र में 70 हजार टीकाकर्मी हैं और निजी क्षेत्र के 30 हजार टीकाकर्मियों को भी अभियान में शामिल किए जाने की संभावना टटोली जा रही है। इनमें डॉक्टर, नर्स और लैब टेक्नीशियन शामिल हैं जो सार्स-कोव2 के खिलाफ बन रही वैक्सीन को रेग्युलेटरों की स्वीकृति मिलते ही इसे लोगों को लगाना शुरू कर देंगे। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

औसत से कम रहेगी कोरोना टीका लगाने की रफ्तार

एक अधिकारी ने बताया कि एक सहयोगी के साथ कोई कुशल प्रशिक्षित टीकाकर्मी हर घंटे 20 से 25 लोगों को टीका लगा सकता है। हालांकि, कोरोना वैक्सीन लगाने की रफ्तार थोड़ी कम रहेगी। 70 हजार सरकारी टीकाकर्मी व्यापक टीकाकरण कार्यक्रम का हिस्सा हैं। इनमें ज्यादातर कोविड टीकाकरण अभियान के पहले चरण का हिस्सा बन जाएंगे। तब स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चों पर तैनात अन्य कर्मियों को टीके लगाए जाएंगे।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here