गु़वाहटी। नगांव जिला के पुरनी गोदाम के तेलियागांव निवासी पापूल सैकिया नामक एक व्यक्ति को हाथ और पैर में लोहे की जंजीर से बांधकर एक घर में बंद कर रखने को परिवार वाले मजबूर हैं।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार से लगभग 10 वर्ष पहले पापूल सैकिया नामक युवक काम की तलाश में हैदराबाद गया था। हैदराबाद से जब वह अपने घर लौटा ते वह अपना मानसिक संतुलन खो चुका था। जिसके बाद उसके माता-पिता ने कई अस्पतालों में इलाज कराया। लेकिन, वह ठीक नहीं हुआ। पापूल की हरकत से उसके माता-पिता के अलावा आसपास के लोग काफी परेशान हो गये। वह सामानों को क्षतिग्रस्त करने के अलावा काफी शोर मचाता था। जिसकी वजह से उसके हाथ-पैर में जंजीर बांधकर घर में रखने को माता-पिता मजबूर हो गये हैं।

पापूल के व्यवहार की वजह से उसके वृद्ध माता-पिता किराए के घर में रहने को मजबूर हैं। बेटे द्वारा जीविका का जरिया दुकान में भी लगातार तोड़फोड़ करने से पिता काफी परेशान हैं। कुछ दिन पहले पापूल के माता-पिता इलाज के लिए उसे तेजपुर ले गए थे, जहां पर डॉक्टरों ने उसे घर ले जाने की सलाह दी। पापूल की स्थिति को लेकर उसके माता-पिता काफी चिंतित है।

पापूल के माता-पिता अपने बेटे के इलाज के लिए अब सरकार व स्थानीय जिला प्रशासन से आस लगाए बैठे हैं। उन्हें उम्मीद है कि उनके बेटे के इलाज के लिए स्थानीय जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और सरकार आगे आएगा और उनका बेटा जल्द स्वास्थ्य होकर आम जिंदगी जिएगा।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here