गणतंत्र दिवस पर डॉ. लता भट्टाचार्य को विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन द्वारा कार्य के प्रति समर्पण व परिश्रम को देखते हुए  “विक्रम सम्मान” से सम्मानित किया गया है। वे विगत  36 सालों से अपने कर्तव्यों को कुशलता से निभा रही हैं।

डॉ. लता भट्टाचार्य को यूनेस्को द्वारा दो बार  युवा वैज्ञानिक का पुरस्कार मिल चुका है।  उनके अब तक   84   शोध पत्र प्रकाशित हुए हैं। उनके मार्गदर्शन में बहुत से स्टूडेंट एमफिल और पीएचडी कर चुके हैं। डॉ. लता भट्टाचार्य की एंडोक्रिनोलॉजी और बायोकेमिस्ट्री में 7 पुस्तकें प्रकाशित  हो चुकी हैं।

दुर्लभ उदहारण महिला सशक्तिकरण का*

विक्रम यूनिवर्सिटी,उज्जैन की तीन महत्वपूर्ण पदों को महिलाएं संभाल रही हैं। ये हैं (बाएं से दाएं)-1. Dr. Shubha Jain  विभाग अध्यक्ष रसायन शास्त्र,  2. Dr. Lata Bhattacharya  विभाग अध्यक्ष प्राणिकी एवम प्रोद्योगिकी.  3 Dr. Deepika Gupta विभाग अध्यक्ष राजनीतिक शास्त्र  ( left to Right)

तीनों सम्मानीय हस्तियां विभागाध्यक्ष होने के साथ-साथ विक्रम यूनिवर्सिटी की कार्य परिषद की सदस्य भी हैं। 

डॉ.लता भट्टाचार्य प्रदेशवार्ता डॉटकॉम की प्रधान संपादक हैं।
Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here